Black Section Separator

हालही में 8 मार्च को WPL में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ खेले गए मुकाबले में यूपी वारियर्स की दीप्ति शर्मा ने हैट्रिक लेते हुए अपनी टीम को हारा की कगार पर खड़ा हुआ मुकाबला जिताया था। 

Black Section Separator

दीप्ति के अलावा केवल इंग्लैंड की इज़्ज़ी वोंग ने वीमेन प्रीमियर लीग में हैट्रिक लिया था। दीप्ति WPL में हैट्रिक लेने वाली पहली भारतीय   खिलाडी है।

Black Section Separator

दीप्ति में 5 ऐसी कुछ बाते है जिनकी वजह से वो बार बार अपने आलराउंड प्रदर्शन से क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में अपने प्रदर्शन से अद्भुत कारनामा करती रहती है। 

Black Section Separator

दीप्ति चाहे गेंदबाजी या फिर बल्लेबाजी करती हो, वो दोनों ही समय खिलाड़ियों के दिमाग से खेलती है। ऐसा एक बार नहीं बार- बार देखा गया है की दीप्ति अपनी चतुरता से एक सेट बल्लेबाज को भी पवेलियन का रास्ता दिखा देती है। 

चतुरता 

Black Section Separator

दीप्ति शर्मा परिस्थिति रुपी खिलाडी है। दीप्ति को पता किस हालातो में किस प्रकार की बल्लेबाजी या गेंदबाजी करनी है। विकेट गिरने पर वो डिफेन्स करती है, लेकिन जरुरत पड़ने पर उन्हें ताबड़तोड़ बल्लेबाजी भी करने आती है।

परिस्थिति रुपी 

Black Section Separator

दीप्ति शर्मा भले ही अभी 26 साल की है, लेकिन पिछले 10 सालों से वो अंतराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रही है। 2014 में ही मात्र 16 साल की उम्र में अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाली दीप्ति को करीब 200 मैचों का अनुभव है। 

अनुभव 

Black Section Separator

दीप्ति अपने फिटनेस को काफी तबज्जो देती है, जिसकी वजह से मुश्किल कैच या फिर रन को आसान बना देती है। अपनी अच्छी फिटनेस की वजह से ही वो दुनिया की सबसे बेस्ट आलराउंडर में से एक है।  

फिटनेस

Black Section Separator

दीप्ति अपनी पिछली गेंद की गलतियों से सिख लेकर आगे बढ़ने में ध्यान देती है। बार-बार एक ही गलती न करने की वजह से दीप्ति की गेंद पर कोई बल्लेबाज लगातार हिट नहीं लगा पता है। 

सीखना 

More Interesting Web Stories

Arrow